एशियन गेम्स 2018: भारत के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड जीतकर रचा इतिहास

एशियन गेम्स 2018: भारत के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड जीतकर रचा इतिहास

एशियन गेम्स 2018: भारत के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड जीतकर रचा इतिहास


जाकार्ता: किसान के बेटे नीरज चोपड़ा ने भाले को फेंकने में गोल्ड जीतकर एक और रिकॉर्ड दर्ज किया।  20 साल के इस युवा ऐथलीट ने पहली बार भारत को इस स्पर्धा में एशियन गेम्स का गोल्ड मेडल दिलाया। इससे पहले, 1982ई के एशियाई खेलों में गुरतेज सिंह ने जैवलिन में ब्रॉन्ज मेडल दिलाया था। सिंधु भारत के लिए इस शानदार दिन पर 18 वें एशियाई खेलों में ऐतिहासिक फाइनल में पहुंची।

खेल की शुरुआत से ही वे आत्मविश्वास से भरपूर लग रहे थे और उनके तीसरे थ्रो ने उन्हें गोल्ड मेडल तक पहुंचाया। भारतीय एथलेटिक्स में सबसे बड़ा स्टार माने जाने वाले जूनियर विश्व चैंपियन नीरज ने भारी उम्मीदों के साथ स्टाइल में भाले को मैदान में 88.06 मीटर की  दूरी पर फेंका।

नीरज के स्वर्ण, साइना नेहवाल के बैडमिंटन एकल कांस्य के साथ और तीन अन्य एथलेटिक्स के रजत पदक के साथ भारत की कुल पदक जीत 41 (8 स्वर्ण, 13 रजत और 20 कांस्य) हो गईं और भारत पदक तालिका में 9वें पायदान पर पहुँच गया।

विनेश फोगाट एशियाई गेम में भारत की पहली महिला कुश्ती चैंपियन बनीं

हरियाणा के पानीपत में जन्मे नीरज 18वें एशियाई खेलों की ओपनिंग सेरिमनी में भारतीय ध्वजवाहक भी रहे। नीरज भारतीय सेना में नायब सूबेदार के पद पर नियुक्त हैं। एशियाड में गोल्ड जीतने पर भारतीय सेना ने भी इस युवा खिलाड़ी को बधाई दी है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नीरज को गोल्ड जीतने पर बधाई दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा-“जब नीरज फील्ड पर होते हैं, तो उनसे बेस्ट की उम्मीद होती है। इस युवा ऐथलीट ने जैवलिन थ्रो में गोल्ड जीतकर देश को और खुश किया । उन्हें नया नैशनल रेकॉर्ड बनाने पर भी बधाई देते हैं।”



HindiNews Team

चर्चित खबरें, स्वास्थ्य सुझाव, व्यक्तित्व विकास, ज्ञान, जानकारी, प्रेरणादायक, लेख, कहानी

Related Posts

विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

Comments Off on विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

अन्य तकनीकी दिग्गजों के अपेक्षा ऐप्पल चीन में कैसे सफल हुआ?

Comments Off on अन्य तकनीकी दिग्गजों के अपेक्षा ऐप्पल चीन में कैसे सफल हुआ?

leave a comment

Create Account



Log In Your Account