Breaking :

क्षुद्रग्रह के प्रभाव के कारण पृथ्वी पर महाद्वीपों का निर्माण हुआ!

क्षुद्रग्रह के प्रभाव के कारण पृथ्वी पर महाद्वीपों का निर्माण हुआ!

क्षुद्रग्रह के प्रभाव के कारण पृथ्वी पर महाद्वीपों का निर्माण हुआ!


science daily

एक अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार, 3.8 अरब साल पहले अंतरिक्ष से क्षुद्रग्रहों द्वारा पृथ्वी पर भारी बमबारी से हमारे ग्रह पर अल्प काल में विकसित क्रस्ट के निर्माण में सहयोग मिला, जिसके बाद महाद्वीपों का निर्माण हुआ। (science daily

दक्षिण अफ्रीका में विटवाटरसैंड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने कहा कि ‘हैडियन ईऑन नामक एक समय अवधि में क्षुद्रग्रहों द्वारा लगातार पृथ्वी पर बमबारी होती रही, जिसके कारण बड़े पैमाने पर इसकी सतही चट्टानें पिघलने लगी। इनमें से अधिकांश चट्टानें बेसाल्ट थीं।

कनाडा में सुदबरी इगनीस कॉम्प्लेक्स (एसआईसी) के छोटे प्रभाव वाली पिघली हुई शीट का अध्ययन करके टीम ने अनुमान लगाया कि प्राचीन क्षुद्रग्रह का प्रभाव पृथ्वी के पहले बेसाल्टिक क्रस्ट से विभिन्न रॉक प्रकारों का उत्पादन करने में सक्षम थे।


स्लिम रहने और मोटापे से बचाने में जीन सहायक, रिपोर्ट

इन प्रभावों ने क्रस्ट को संरचनात्मक रूप से अधिक विकसित किया है, अर्थात संरचना में सिलिका-समृद्ध हो सकता है। एसआईसी पृथ्वी पर सबसे बड़ी और सुलभ, क्षुद्रग्रह प्रभाव से पिघला हुआ परत है, जो 1.85 अरब साल पहले एक बड़े क्षुद्रग्रह प्रभाव के परिणामस्वरूप बना, शोधकर्ताओं ने बताया।



HindiNews

चर्चित खबरें, स्वास्थ्य सुझाव, व्यक्तित्व विकास, ज्ञान, जानकारी, प्रेरणादायक, लेख, कहानी

Related Posts

सोचते वक़्त हम अपना सिर क्यों खुजलाते हैं?

Comments Off on सोचते वक़्त हम अपना सिर क्यों खुजलाते हैं?

leave a comment

Create Account



Log In Your Account