Breaking :

सुखद शादीशुदा जीवन

सुखद शादीशुदा जीवन

सुखद शादीशुदा जीवन

Interesting story in hindi

दो परिवार नजदीक में रहते थे। एक परिवार के सदस्यों में लगातार झगड़ा होता था, जबकि उसके पड़ोस वाला दूसरा परिवार चुपचाप और मैत्रीपूर्ण जीवन व्यतित कर रहा  था। एक दिन पड़ोसी परिवार में अच्छा माहौल के बारे में ईर्ष्या महसूस करते हुए, पत्नी ने अपने पति से कहा: ‘ पड़ोसियों के पास जाओ और देखो कि वे इस तरह के कल्याण के साथ कैसे रह रहें  हैं? (interesting story in hindi)

इसके बाद उस महिला के पति ने छुपकर अपने पड़ोसी परिवार पर नजर  रखना शुरू कर दिया। उसने एक महिला को कमरे में फर्श को साफ करते देखा। अचानक वह महिला किसी कारण वस विचलित होकर रसोई घर चली गई। उस समय उसके पति उस फर्श को पार कर रहा था, उसने पानी की बाल्टी को नहीं देखा और उससे ठोकर लग गयी, परिणाम स्वरूप सारा  पानी बह गया।


नोबुनगा का भाग्य

तब उसकी पत्नी रसोई से वापस आई और अपने पति से कहा ‘मुझे खेद है, यह मेरी गलती है क्योंकि मैंने पास से बाल्टी को नहीं हटाया। इस पर उसके पति ने उसे जवाब दिया ‘नहीं, मुझे खेद है, यह मेरी गलती है, क्योंकि मैंने इसे नहीं देखा। ‘


एक गुलदस्ता मां के लिए

आदमी घर लौट आया, जहां पत्नी ने उससे पूछा: ‘ क्या आपको उनके कल्याण का कारण समझ में आया ? तो उस आदमी ने जवाब दिया हां, बिलकुल।  हम हमेशा सही होने की कोशिश करते हैं, जबकि उनमें से प्रत्येक खुद पर दोष लेता है।


leave a comment

Create Account



Log In Your Account