Breaking :

विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

Comments Off on विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

आईएएएफ वर्ल्ड अंडर -20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर फाइनल रेस में 12 जुलाई को शीर्ष स्थान हासिल कर हिमा दास ने  विश्व स्तर पर स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बनने का रिकॉर्ड इतिहास में दर्ज  किया। दास से पहले किसी भी महिला ने किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक नहीं जीता है, चाहे वह युवा, जूनियर या सीनियर हो। वह विश्वस्तर पर एक ट्रैक इवेंट में स्वर्ण जीतने वाली  वाले पहली भारतीय भी हैं।

एक प्री-टूर्नामेंट पसंदीदा 18 वर्षीय एथलीट ने स्वर्ण जीतने के लिए रेस को 51.46 सेकंड्स में पूरा किया , जिसका  भारतीय टीम  ने  जमकर  जश्न मनाया। रोमानिया की आंद्रे मिकलोस ने 52.07 सेकेंड का अपना सर्वश्रेष्ठ समय निकालकर रजत पदक पर कब्जा जमाया। वहीं, अमेरिका की टेलर मैंसोन 52.28 सेकेंड के समय के साथ कांस्य पदक जीत पाई।

 

दौड़ के बाद हिम ने  कहा, “मैं विश्व जूनियर चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने से बहुत खुश हूं। मैं सभी भारतीयों को  और उन लोगों को भी धन्यवाद देना चाहती हूं, जो यहां मुझे उत्साहित कर रहे थे। इस तरह के समर्थन  बहुत ही  उत्साहित करने वाल  था।

असम के नागांव जिले के धिंग गांव की दास अब स्टार जवेलिन फेंकनेर नीरज चोपड़ा की शानदार कंपनी में शामिल हो गयी हैं, जिन्होंने विश्व रिकॉर्ड प्रयास में 2016 में आखिरी संस्करण में पोलैंड में स्वर्ण जीता था।

दास से पहले स्टार भाला फेंक नीरज चोपड़ा ने पोलैंड में हुए 2016 में पिछले सत्र में विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। इसके साथ ही दास इस चैंपियनशिप के इतिहास में पदक जीतने वाली पहली भारतीय ट्रैक एथलीट बनीं। उनसे पहले इस चैंपियनशिप में भारत की ओर से सीमा पूनिया ने 2002 में डिस्कस थ्रो में कांस्य पदक जीता था, जबकि नवजीत कौर ढिल्लो 2014 में डिस्कस थ्रो में ही कांसा हासिल करने में सफल हुईं थीं।


इससे पहले दास अप्रैल में हुए गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में 400 मीटर फाइनल में 51.32 सेकेंड का समय निकालकर छठे स्थान पर रहीं थीं। अन्य भारतीयों में जिस्ना मैथ्यू 54.32 सेकेंड का समय लेकर हीट 5 की विजेता रहीं थीं, लेकिन सेमीफाइनल में वह 53.86 सेकेंड का समय लेकर पांचवें स्थान पर रहकर फाइनल की दौड़ से बाहर हो गईं।

दास को बधाई देते हुए, भारत के एथलेटिक्स फेडरेशन के अध्यक्ष आदिल सुमारिवाला ने कहा, “इतिहास बनाने के लिए हिमा पर बहुत गर्व है। यह मेरे जीवन और भारतीय एथलेटिक्स के गर्व के क्षणों में से एक है।

Related Posts

अन्य तकनीकी दिग्गजों के अपेक्षा ऐप्पल चीन में कैसे सफल हुआ?

Comments Off on अन्य तकनीकी दिग्गजों के अपेक्षा ऐप्पल चीन में कैसे सफल हुआ?

Create Account



Log In Your Account