निम्न रक्तचाप नियंत्रित करने के तरीके

निम्न रक्तचाप नियंत्रित करने के तरीके

निम्न रक्तचाप नियंत्रित करने के तरीके


low blood pressure hindi, hindi mai bp, home remedies for low bp, low blood pressure diet, bp low symptoms in hindi

रक्तचाप का सामान्य न होकर निम्न स्तर पर होना निम्न(low blood pressure hindi, hindi mai bp) रक्तचाप है। रक्तचाप का सामान्य ना होना, स्वास्थ्य के लिए हमेशा नुकसानदायक ही होता है। यह ज्यादातर शरीर में कमजोरी के कारण होता है और इस बीमारी(home remedies for low bp, low blood pressure diet, bp low symptoms in hind) में बताए गए नाम के अनुसार रक्तचाप सामान्य रक्तचाप की सीमा से भी कम हो जाता है। इससे  शरीर के विभिन्न अंगों को ऑक्सीजन की आपूर्ति भी  प्रभावित होती है।


कारण:  तनाव , दोषपूर्ण आहार या कुपोषण , किसी भी चोट या मासिक धर्म चक्र के दौरान रक्त की कमी, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल

               ट्रैक्ट,  गुर्दे या मूत्राशय में धीमी रक्तस्राव

लक्षण: कमजोरी, आलस्य, चक्कर आना,  रोगी का आसानी से थक जाना

इस बीमारी  के उपचार में अधिकतर आयुर्वेदिक घरेलू उपचार हैं:

1. निम्न रक्तचाप के उपचार के लिये  कुछ प्राकृतिक शहद मिलाकर गाजर का रस रोजाना पीएं।  आप गाजर जैम भी दैनिक खा सकते हैं।

2. पानी में कुछ किशमिश/सूखे अंगूर भीगों कर सेवन करना भी लाभदायक है।

3. रोजाना एक गिलास लस्सी (मट्ठा) पीएं और स्वाद के लिए कुछ काले नमक और पुदीना (टकसाल) पत्तियों को मिलाएं।

4. दूध और अन्य दूध उत्पाद के साथ प्रोटीन सम्पन्न और विटामिन का रोजाना सेवन भी निम्न रक्तचाप के उपचार में सहायक है।

5. तुलसी (Holy basil, Ocimum sanctum) पत्तियों के रस या पाउडर लें और प्राकृतिक शहद के साथ मिलाएं। हर दिन खाली पेट इस मिश्रण का प्रयोग कर आप लाभ पा सकते हैं।

6. अर्जुन / काहू (टर्मिनलिया अर्जुन) हृदय के लिए अच्छा है। 200-300 मिलीलीटर पानी में टर्मिनलिया अर्जुन छाल के 10-15 ग्राम का काढ़ा तैयार करें। सुबह और रात में दूध के साथ plus disorders और angina pain जैसे हृदय रोगों के इलाज के लिये इसका दैनिक उपयोग करें। यदि ताजा छाल उपलब्ध नहीं है तो 5 ग्राम सूखे छाल पाउडर और 1 गिलास पानी में उबाल  लें। जब यह आधा रहता है तो इसमें कुछ दूध मिलाएं और हर्ट की शक्ति बढ़ाने और हर्ट की क्रिया को मजबूत करने के लिए उपयोग करें।

7. 1 कप कच्चे चुकंदर का रस दिन में दो बार पीएं।

8. नमक कम रक्तचाप का इलाज करने में उपयोगी होता है। रोजाना एक बार ½ छोटा चम्मच नमक के साथ मिश्रित 1 गिलास गर्म पानी लें।
हालांकि, यह तब तक करें जब तक दबाव सामान्य तक पहुंच जाए।

9. ब्लैक टी पीना भी लाभकारी है। कैफीन रक्तचाप को बढ़ाने में मदद करता है।


उच्च रक्तचाप नियंत्रित करने के तरीके

कम रक्तचाप उपचार के लिए ये  सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेद घरेलू उपचार हैं।। इस बीमारी के उपचार में बेहतर परिणाम के लिए ज्यादा  पानी के मात्र वाले  फल और सब्जियों का उपयोग करें।



HindiNews Team

चर्चित खबरें, स्वास्थ्य सुझाव, व्यक्तित्व विकास, ज्ञान, जानकारी, प्रेरणादायक, लेख, कहानी

Related Posts

क्षय रोग(टीबी) के उपचार के 8 घरेलू उपाय

Comments Off on क्षय रोग(टीबी) के उपचार के 8 घरेलू उपाय

गर्मी से जलने/झुलसने पर प्राथमिक उपचार

Comments Off on गर्मी से जलने/झुलसने पर प्राथमिक उपचार

बालों को झड़ने से रोकने के लिये अपने जीवनशैली में क्या परिवर्तन करें ?

Comments Off on बालों को झड़ने से रोकने के लिये अपने जीवनशैली में क्या परिवर्तन करें ?

वजन घटाने के लिए श्रेष्ठ आयुर्वेदिक घरेलू उपचार के 10 नियम

Comments Off on वजन घटाने के लिए श्रेष्ठ आयुर्वेदिक घरेलू उपचार के 10 नियम

leave a comment

Create Account



Log In Your Account