नौवें ग्रह की मौजूदगी और इसकी लुका-छिपी फिर सामने आयी

नौवें ग्रह की मौजूदगी और इसकी लुका-छिपी फिर सामने आयी

नौवें ग्रह की मौजूदगी और इसकी लुका-छिपी फिर सामने आयी


दशकों से वैज्ञानिकों के पास नौवें ग्रह का सिद्धांत है। यह ग्रह पृथ्वी से 10 गुना बड़ा और सौर मंडल के बाहरी-ग्रह-नेप्च्यून की तुलना में सूर्य से 20 गुना अधिक दूर माना जाता है। यहां तक ​​कि नासा ने आधिकारिक तौर पर दावा किया था कि इस ग्रह के बिना हमारे सौर मंडल की कल्पना करना मुश्किल है। इस ग्रह  के अस्तित्व को इंगित करते हुए कहा कि हमारे पास अवलोकन सबूत की पांच अलग-अलग पंक्तियां हैं।


नौवें ग्रह के अस्तित्व को अभी तक आधिकारिक तौर पर साबित नहीं किया गया है, जबकि सम्मानित शोधकर्ताओं को दृढ़ता से उम्मीद है कि हमारे सौर मंडल के बहुत दूर में एक बड़ा ग्रह छिप रहा है। टोक्यो विश्वविद्यालय के एक खगोल विज्ञानी सुरहद मोरे ने कहा, ‘हर बार जब हम एक तस्वीर लेते हैं,’ यह संभावना रहती है कि नौवां ग्रह शॉट में मौजूद हो। ‘


Image By WikiMedia

अधिकांश तारा मंडल में, आसपास के ग्रह अपने मेजबान के साथ घूमते रहते हैं। हालांकि, हमारे सौर मंडल में, ग्रह अपनी धुरी से छः डिग्री के कोण पर हैं। हालांकि शोधकर्ता अब ज्यादा सुनिश्चित है कि नौवां ग्रह सौर मंडल से बहुत दूर है और वर्तमान में दूरबीनों का उपयोग करके पता लगाना असंभव होगा।

अब अंतरिक्ष में खुद की सेल्फी लें!

इस ग्रह के लिए पहला सबूत 2014 में सामने आया, जब एक छोटे ग्रह की खोज से पता चला कि सौर मंडल के कुछ हद तक बाहरीतम हिस्सों में मिनी बर्फ-दुनिया सूर्य के चारों ओर संदिग्ध रूप से समान पथों का पालन करती है। वॉशिंगटन में कार्नेगी इंस्टीट्यूशन फॉर साइंस के एक खगोलविद और 2014 के छोटे ग्रहों के सह-खोजकर्ता स्कॉट शेपार्ड ने कहा, ‘यदि चीजें एक ही कक्षा में हैं, तो कुछ उन्हें धक्का दे रहा है।’


HindiNews Team

चर्चित खबरें, स्वास्थ्य सुझाव, व्यक्तित्व विकास, ज्ञान, जानकारी, प्रेरणादायक, लेख, कहानी

Related Posts

दो क्षुद्रग्रह पिछले सप्ताह पृथ्वी के नजदीक एक-दूसरे को स्पर्श करते हुए गुजरे

Comments Off on दो क्षुद्रग्रह पिछले सप्ताह पृथ्वी के नजदीक एक-दूसरे को स्पर्श करते हुए गुजरे

खगोलविदों ने एक ओद्दिटी सहित बृहस्पति के 12 और चंद्रमाओं की खोज की

Comments Off on खगोलविदों ने एक ओद्दिटी सहित बृहस्पति के 12 और चंद्रमाओं की खोज की

सोचते वक़्त हम अपना सिर क्यों खुजलाते हैं?

Comments Off on सोचते वक़्त हम अपना सिर क्यों खुजलाते हैं?

leave a comment

Create Account



Log In Your Account