रीमा दास की ‘विलेज रॉकस्टार’ ऑस्कर 2019 के लिए भारत की आधिकारिक एंट्री

रीमा दास की ‘विलेज रॉकस्टार’ ऑस्कर 2019 के लिए भारत की आधिकारिक एंट्री

रीमा दास की ‘विलेज रॉकस्टार’ ऑस्कर 2019 के लिए भारत की आधिकारिक एंट्री


फिल्म निर्माता रीमा दास की असमिया फिल्म ‘विलेज रॉकस्टार’ को ऑस्कर 201 9 के लिए विदेशी भाषा फिल्म श्रेणी में भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के रूप में चुना गया है। रिपोर्ट के अनुसार यह फिल्म आलिया भट्ट की मेगा-हिट ‘राज़ी’, संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावत’, रणवीर शोरी अभिनीत ‘हल्का’ और सोहम शाह की आगामी फिल्म ‘तुमबाद’ के साथ रेस में थी।
फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एफएफआई) द्वारा शनिवार को इसकी घोषणा की गयी। इसकी घोषणा एफएफआई की ऑस्कर पुरस्कार चयन समिति के अध्यक्ष एस वी राजेंद्र सिंह बाबू ने की। टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (टीआईएफएफ) 2017 में फिल्म का वर्ल्ड प्रीमियर हुआ और 70 से अधिक प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों में यह फिल्म दिखाई जा चुकी है।
विशेष रूप से, इस फिल्म  ने 65 वां राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म ट्रॉफी हासिल की थी, इसके अलावा सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार, सर्वश्रेष्ठ स्थान ध्वनि रिकॉर्डिस्ट और सर्वश्रेष्ठ संपादन का रिकॉर्ड भी बनाया था। फिल्म आगामी 28 सितंबर को देशव्यापी रिलीज के लिए तैयार है।
Village Rockstar Hindi, Oscar
कोई भी भारतीय फिल्म अभी तक ऑस्कर पुरस्कार नहीं जीता पायी है। आशुतोष गोवरीकर निर्देशित ‘लगान’ विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म की श्रेणी में अंतिम पांच में जगह बनाने वाली आखिरी भारतीय फिल्म  थी। पिछले साल ऑस्कर के लिये भारत की आधिकारिक प्रविष्टि, अमित मासुरकर निर्देशित और राजकुमार राव अभिनीत हिंदी फिल्म ‘न्यूटन’ थी।
रीमा दास के असम स्थित अपने छायगांव की पृष्ठभूमि पर बनी ‘विलेज रॉकस्टार्स’ अद्भुत बच्चों की कहानी है। यह फिल्म गरीबी में पली बढ़ी लड़की धुनू की कहानी पर आधारित है, जो वर्तमान परिस्थितियों में भी रॉक बैंड बनाने और अपना गिटार हासिल करने के अपने सपने से पीछे नहीं हटती। इस घोषणा से प्रसन्न दास ने कहा कि ‘विलेज रॉकस्टार’ के चुने जाने से पूर्वोत्तर के फिल्म निर्माताओं की एक बड़ी पहचान मिली है।


HindiNews Team

चर्चित खबरें, स्वास्थ्य सुझाव, व्यक्तित्व विकास, ज्ञान, जानकारी, प्रेरणादायक, लेख, कहानी

Related Posts

अन्य तकनीकी दिग्गजों के अपेक्षा ऐप्पल चीन में कैसे सफल हुआ?

Comments Off on अन्य तकनीकी दिग्गजों के अपेक्षा ऐप्पल चीन में कैसे सफल हुआ?

विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

Comments Off on विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर हिमा दास ने इतिहास में अपना नाम दर्ज किया

leave a comment

Create Account



Log In Your Account